Skip to main content

जानिए किसे मिला 98 लाख का पैकेज भारत मे 2018 मैं पहली बार?

जानिए किसे मिला 98 लाख का पैकेज

भारत मे 2018 मैं पहली बार?


भीमताल, नैनीताल [जेएनएन]: बिरला संस्थान में इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्यूनिकेशन इंजीनियरिंग से बीटेक कर रहे चतुर्थ वर्ष के छात्र मुनीर खान को बड़ी उपलब्धि हाथ लगी है। जेनेवा स्थित यूरोपियन ऑर्गनाइजेशन फॉर न्यूक्लियर रिसर्च (सर्न) ने 98 लाख के पैकेज पर मुनीर का प्लेसमेंट किया है। दावा है कि यह पैकेज इस वर्ष किसी भारतीय को दिया जाने वाला सबसे बड़ा पैकेज है।

सर्न दुनिया की सबसे बड़ी कण भौतिकी प्रयोगशाला है। संस्थान में अध्ययन के दौरान ही मुनीर खान लियोजौंस विश्वविद्यालय फ्रांस, होम्स स्टेट विश्वविद्यालय रूस, डीआरडीओ देहरादून व एनआइटी कालीकट के इलेक्ट्रॉनिक्स व कंप्यूटर से जुड़े कई प्रोजेक्ट में अपना योगदान दे चुके हैं। उन्हें भारत सरकार के विज्ञान एवं तकनीकी विभाग ने यंग साइंटिस्ट अवार्ड से भी नवाजा जा चुका है।
संस्थान के इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्यूनिकेशन इंजीनियरिंग विभाग के अध्यक्ष और दो बार शोध के लिए सर्न जा चुके डॉ. हेम पांडे ने बताया कि मुनीर खान को अध्ययन के दौरान ही बोस्टन विश्वविद्यालय यूएसए में पीएचडी के लिए फेलोशिप के लिए भी चुना गया है। लखनऊ के सामान्य परिवार से संबंध रखने वाले मुनीर खान ने अपनी इस उपलब्धि के लिए संस्थान के निदेशक प्रो. बीएस बिष्ट, विभागाध्यक्ष प्रो. हेम पांडे, सभी अध्यापकों व परिजनों को धन्यवाद दिया है। इस विश्वस्तरीय उपलब्धि पर संस्थान के निदेशक, विभागाध्यक्ष, डॉ. नीरज पांडे आदि ने मुनीर को बधाई दी है।
सर्न के बारें में जानें
कण भौतिकी की विश्व की सबसे बड़ी प्रयोगशाला सर्न है। यह फ्रांस और स्विट्जरलैंड की सीमा पर जिनेवा के उत्तर-पश्चिमी उपनगरीय क्षेत्र में है। इस संस्था में बीस यूरोपीय सदस्य देश हैं। इस समय लगभग 2600 स्थाई कर्मचारी एवं दुनिया भर के कोई 500 विश्वविद्यालयों एवं 80 राष्ट्रों के लगभग 7930 वैज्ञानिक एवं अभियन्ता कार्यरत है।।

Post write by: HARSH


Comments

Post a Comment

Popular posts from this blog

B.sc करने के फायदे ? (हिंदी मे)

B.sc  करने के फायदे ? (हिंदी मे)
आजकल, जब 12 वीं क्लास पास करने के बाद ग्रेजुएशन लेवल पर कोई कोर्स चुनने का अवसर आता है तो अधिकांश छात्र इंजीनियरिंग या एमबीबीएस में से कोई एक कोर्स चुन लेते हैं. पिछले कुछ वर्षों से इन दोनों ही कोर्सेज में विकास के काफी अवसर उपलब्ध रहे हैं. इसलिए, भारत में टॉप इंजीनियरिंग कॉलेजों और अच्छे कॉलेजों में लिमिटेड सीट्स होने के साथ ही एप्लिकेंट्स की बढ़ती हुई संख्या के कारण आजकल बड़ा सख्त कम्पटीशन देखने को मिल रहा है. इन सब बातों को ध्यान में रखकर अक्सर लोगों के मन में यह सवाल उठता है कि, ‘क्या बीएससी (बैचलर ऑफ़ साइंस) कोर्स ने अब अपनी लोकप्रियता खो दी है?’

आप ये आर्टिकल futuremaker999.com पर पड़ रहे है।
ऐसी बात नहीं है. आज भी अधिकांश स्टूडेंट्स किसी साधारण कॉलेज से इंजीनियरिंग या एमबीबीएस कोर्स करने के बजाय किसी अच्छी यूनिवर्सिटी से बीएससी कोर्स करना पसंद करते हैं. बीएससी कोर्स करने के अपने फायदे हैं. लेकिन, इससे संबद्ध केवल एक समस्या है और वह यह है कि विभिन्न कॉलेज और यूनिवर्सिटीज इन बीएससी कोर्सेज का ज्यादा विज्ञापन नहीं करते हैं. अक्सर छात्रों को यह नहीं पत…

B.com करने के फायदे(benefits of do the b.com);

B.com करने के फायदे(benefits of do the b.com)! कॉमर्स को हमेशा से एक ऐसी प्रोफेशनल फील्ड के रूप में जाना जाता रहा है, जिसमें करियर के कई आकर्षक अवसर होते हैं। मगर बीकॉम के ठीक बाद उपलब्‍ध करियर के अवसरों के चलते यह धारणा भी बन गई है कि कॉमर्स में हायर एजुकेशन का स्कोप बहुत सीमित है। मगर यह धारणा पूरी तरह गलत है। बीकॉम करने के बाद आगे पढ़ाई के ढेरों विकल्प मौजूद हैं। एक नजर डालते हैं ऐसे ही कुछ प्रमुख विकल्पों पर। बैंकिंग व बीमा बीकॉम के बाद बैंकिंग तथा बीमा के क्षेत्र में भी पढ़ाई कर करियर बनाया जा सकता है। पोस्ट ग्रेजुएट स्तर पर ऐसे स्पेशलाइज्ड अकेडेमिक प्रोग्राम हैं, जो विद्यार्थियों को इन क्षेत्रों की बेसिक्स का प्रशिक्षण देते हैं। इनमें प्रमुख हैं बैंकिंग एंड इंश्योरेंस में स्पेशलाइजेशन के साथ एमकॉम, बैंकिंग में स्पेशलाइजेशन के साथ एमबीए, इंश्योरेंस में स्पेशलाइजेशन के साथ एमबीए आदि। बैंकिंग और बीमा से जुड़े अध‍िकांश पोस्ट ग्रेजुएट स्तर के प्रोग्राम्स में सब-स्पेशलाइजेशन के भी कई विकल्प होते हैं।मार्केटिंग आम तौर पर मार्केटिंग को ‘जनरलिस्ट” फील्ड समझा जाता है, जिसमें किसी भी पृष्ठभूम…

RRB NTPC 2019| SET 4 |ONE LINER QUESTIONS|SSC MTS 2019,RRB GROUP D 2019|...

https://youtu.be/Vxf6sPb0CBs