Skip to main content

Dhara 144: Learn what section 144 is and why it is enforced? And how long is it implemented? - (in english) futuremaker999.com

Dhara 144: Learn what section 144 is and why it is enforced? And how long is it implemented? - (in english)

futuremaker999.com



◆ What is Section 144 :) Section 144 is imposed by the government, it can be imposed anywhere, it can be used by the government to go to the Lok Sabha elections and Rajya Sabha elections. Its main purpose is to prevent gathering of the crowd. The place cannot gather more than five people and anyone who violates it can be immediately detained by the police.


Why it is planted :) It is planted so that when in the country

If there is any kind of riots or health related problems such as the corona epidemic is present, then it has been imposed in many states and cities at this time. To apply it, the District Magistrate of the district issues a guideline and then it is imposed.


◆ How long can section-144 take?

Section-144 cannot be imposed for more than 2 months. Its duration can be extended if the state government feels that it is needed to avoid human life danger or to avoid any riots. But even in this situation, it cannot be imposed for more than six months from the starting date of imposing Section-144.



 Provision of punishment :) Anyone who violates it has the provision of three years in jail.


For more such type of information visit regularly on - futuremaker999.com and also subscribe our E-mail notification .

---------------------------------------------FOR THIS INFORMATION VISIT ON OUR YOUTUBE CHANNEL :) YOUTUBE.COM/FUTUREMAKER999


Comments

Post a Comment

Popular posts from this blog

B.sc करने के फायदे ? (हिंदी मे)

B.sc  करने के फायदे ? (हिंदी मे)
आजकल, जब 12 वीं क्लास पास करने के बाद ग्रेजुएशन लेवल पर कोई कोर्स चुनने का अवसर आता है तो अधिकांश छात्र इंजीनियरिंग या एमबीबीएस में से कोई एक कोर्स चुन लेते हैं. पिछले कुछ वर्षों से इन दोनों ही कोर्सेज में विकास के काफी अवसर उपलब्ध रहे हैं. इसलिए, भारत में टॉप इंजीनियरिंग कॉलेजों और अच्छे कॉलेजों में लिमिटेड सीट्स होने के साथ ही एप्लिकेंट्स की बढ़ती हुई संख्या के कारण आजकल बड़ा सख्त कम्पटीशन देखने को मिल रहा है. इन सब बातों को ध्यान में रखकर अक्सर लोगों के मन में यह सवाल उठता है कि, ‘क्या बीएससी (बैचलर ऑफ़ साइंस) कोर्स ने अब अपनी लोकप्रियता खो दी है?’

आप ये आर्टिकल futuremaker999.com पर पड़ रहे है।
ऐसी बात नहीं है. आज भी अधिकांश स्टूडेंट्स किसी साधारण कॉलेज से इंजीनियरिंग या एमबीबीएस कोर्स करने के बजाय किसी अच्छी यूनिवर्सिटी से बीएससी कोर्स करना पसंद करते हैं. बीएससी कोर्स करने के अपने फायदे हैं. लेकिन, इससे संबद्ध केवल एक समस्या है और वह यह है कि विभिन्न कॉलेज और यूनिवर्सिटीज इन बीएससी कोर्सेज का ज्यादा विज्ञापन नहीं करते हैं. अक्सर छात्रों को यह नहीं पत…

B.com करने के फायदे(benefits of do the b.com);

B.com करने के फायदे(benefits of do the b.com)! कॉमर्स को हमेशा से एक ऐसी प्रोफेशनल फील्ड के रूप में जाना जाता रहा है, जिसमें करियर के कई आकर्षक अवसर होते हैं। मगर बीकॉम के ठीक बाद उपलब्‍ध करियर के अवसरों के चलते यह धारणा भी बन गई है कि कॉमर्स में हायर एजुकेशन का स्कोप बहुत सीमित है। मगर यह धारणा पूरी तरह गलत है। बीकॉम करने के बाद आगे पढ़ाई के ढेरों विकल्प मौजूद हैं। एक नजर डालते हैं ऐसे ही कुछ प्रमुख विकल्पों पर। बैंकिंग व बीमा बीकॉम के बाद बैंकिंग तथा बीमा के क्षेत्र में भी पढ़ाई कर करियर बनाया जा सकता है। पोस्ट ग्रेजुएट स्तर पर ऐसे स्पेशलाइज्ड अकेडेमिक प्रोग्राम हैं, जो विद्यार्थियों को इन क्षेत्रों की बेसिक्स का प्रशिक्षण देते हैं। इनमें प्रमुख हैं बैंकिंग एंड इंश्योरेंस में स्पेशलाइजेशन के साथ एमकॉम, बैंकिंग में स्पेशलाइजेशन के साथ एमबीए, इंश्योरेंस में स्पेशलाइजेशन के साथ एमबीए आदि। बैंकिंग और बीमा से जुड़े अध‍िकांश पोस्ट ग्रेजुएट स्तर के प्रोग्राम्स में सब-स्पेशलाइजेशन के भी कई विकल्प होते हैं।मार्केटिंग आम तौर पर मार्केटिंग को ‘जनरलिस्ट” फील्ड समझा जाता है, जिसमें किसी भी पृष्ठभूम…

RRB NTPC 2019| SET 4 |ONE LINER QUESTIONS|SSC MTS 2019,RRB GROUP D 2019|...

https://youtu.be/Vxf6sPb0CBs